Featured

First blog post

This is the post excerpt.

Advertisements

This is your very first post. Click the Edit link to modify or delete it, or start a new post. If you like, use this post to tell readers why you started this blog and what you plan to do with it.

post

Self-defense is not crime


Don’t judge me by my status…
I am a councellor what I write helps many of my friends having same problem but can’t find a solution…
I can feel them…
Enjoy being you…
What ever I do is truly professional…
Don’t compare any one please…
Spring is the perfect time to clear out the old to bring in the new. Of course, clearing clutter is the first step in cleaning your space. The second step, is to do a space cleansing where you remove the energy debris that has built up over time. Once you perform the cleansing, the energy of the space lifts, brightens, and circulates freely. Then, implementing feng shui becomes a breeze.

The energy debris can be a result of negative emotions, thoughts, occurrences, and stress that you have experienced in your space. Your house is like a sponge. Whatever transpires in your environment is absorbed into the walls, furniture, carpet, ceiling, and objects. Frequently, these negative energies accumulate in the corners and tucked away places. Also, if you had a negative event happen recently or a lot of sadness or fear, cleanse your space immediately! Visualize space cleansing as wiping away dust bunnies from the past.

Self defence is not a crime
I can’t say love light peace healing miracles and hugs when I feel negativity…
Bang Bang the rubbish…
Divinely Blessed
I have to carry a sword instead of wand and become a transformer
From Angel to body guard me and my loved ones…
It’s not a crime….
It’s only you who can do miracles…
Trust yourself fully
Success is yours

Namah Shivay

(((❤)))

लक्ष्य तो हर हाल में पाना है…

चक दे …

Hie all beautiful souls,
Namastey
🙏
इसके पहले की मैं कुछ लिखूं विश्वास एक बहुत ही अमूल्य एहसास है जो हम सभी को एक डोर से बांधे रखता है।और उसपे ज़िन्दगी इतनी खूबसूरत है यदि सही तरीका पा जाओ।
कुछ दिन पहले से मेरी सहेली संजू ने कहा अरे यार मेरा माच है 9 तारिख को तू कुछ लिख यार मुझे तेरी सोच पढ़ना अच्छा लगता है…तू आजा…मैने कहा कौन सा मैच जैसे लड़कियों की विचार धारा जाती है badminton होगा, या फिर युही कोई !!!उसने कहा क्रिकेट…मैने कहा क्रिकेट का क भी नही आता madam दूर दूर तक उससे कुछ नाता नही मेरा जानी…हम हँस पड़े ..अचानक से लबों पे हँसी सराहनीय थी… और आज संजीवनी का क्रिकेट मैच जब है …मैं खुद को रोक नही पाई,
🏏
पंछी ने जब जब किया पंखों पर विश्वास,
दूर दूर तक हो गया उसका ही आकाश।
🏏
दुआ देना और एहसासों की कद्र करना आदत सी हो गयी है। हर दुआ में शामिल हम सभी है जो एहसास से जागृत है, है ना… पवित्र प्रेम भी तो एक एहसास ही है…
उसने जब ये कहा कि सभी घरेलू महिलाएं है और सभी के सहियोग से हो आया है। वे सभी कुछ कर दिखाने चाहती है..रसोई से जुड़े रहने के अलावा, ज़िन्दगी में भी रस है जो वो जीना चाहती है, उनके इस जज़्बे को दिल से सलाम, नमन है।नारी कमजोर नही एक शक्ति है जो हर कार्य कर सकती है। सिर्फ ठानना ज़रूरी है,आप सभी जानते है कि ” मुश्किल नही है कुछ भी गर ठान लीजिए”।
🥇🏆
जिसने कहा कल, दिन गया टल,
जिसने कहा परसों,बीत गए बरसो
जिसने कहा आज, उसने किया राज।
🎖️🏆
यहां इस पिच पे हमे किसी और को दिखाने के लिए नही खेलना है, हमे खुद के लिए खुद में छुपे बचपन को जीना है…हर वो अदा से जुड़ना है जो बेबाक पन, मासूमियत, और कुछ कर गुजरने के दौर से जुड़ा हो।यहाँ शामिल सभी महिलाएं अपने दौर में कही न कही किसी खेल में माहिर होगी मेरी उनसे विनती है कि अपने जीवन के सोल्वे साल में प्रवेश कीजिये…और करना ही है के उद्देश्य से मैदान में उतरिये… कुछ करिए नस नस मेरी बोले…आज नही तो कभी नही
🏏संघर्ष में आदमी अकेला होता है,
सफ़हलता में दुनियां उसके साथ होती ही है, 🏆

मुझे पता है पिछले कुछ दिनों से आपके ज़हम में सिर्फ बैट और गेंद ही घूम रहे होंगे…अर्जुन की भांति सिर्फ गेंद में निशाना साधिए और लक्ष्य को पा जाइये…पूरी ताकत से बल्ले को घूम के मारिये…वो चली गेंद बादलों के पार… और वो हुआ परमात्मा के आशीर्वाद का दीदार…
कोई क्या बोलेगा या बोलता है उससे हमें क्या लेना,आप ने वो कहानि सुनी ही होगी कि जो मेंढक बेहरा था और मेहनती था वही लक्ष्य तक पंहुचा… कथनी और करनी में बहुत अंतर है…और जो कर्म निरंतर मेहनत के समुंदर में डूपकि लगता है उसकी जीत निश्चित है। आप की captain संजू में एक अनोखा हुनर है कि वो सभी को बांध के चलती है और एक जुट रखना बहुत बड़ी बात है। मैं यहां पुणे से आप सभी के साथ शक्ति से जुड़ी हु। इसलिए नही की आप मैच खेल रहे है बल्कि इसलिए कि वर्षों बाद मैदान में उतरना अपने आप मे कला है और मैं उसे नमन करती हूं।
यहाँ मौजूद सभी महिलाओं से निवेदन है,जो overs आप खेलेंगी, वो जीएंगी ही और मंज़िल को हर हाल में पाना है। अपने उद्देश्य को हासिल करने के लिए रणनीति ज़रूरी है और इस बार रणभूमि क्रिकेट पिच है। जो ताकतवर है उसे दिमाग से हराया जाता है और जो दिमागी है उसे बल से…इसलिए आप को माँ काली और माँ सरस्वती का आशीर्वाद निरंतर मिलता रहे।
आप सभी सॉस अंदर साँस बाहर 5 बार करिए।कैसा लग रहा है…मस्त ना शांत मन और चंचल चितवन से जीत हमारी होगी। मन शांत, मस्तिष्क शांत, और मैदान में अल्लड़ पन…होना तो होना। भगवान भी उसी की सहायता करता है जो खुद अपने पे पूर्ण विश्वास रखता हो। लक्ष्य तो हर हाल में पाना ही है। निकलेंगे मैदान में जिस दिन हम झूम के, धरती बोलेगी ये गगन चुम के, यहाँ के हम सिकंदर…अरे हम से पंगा मत लेना मेरी जान…ज़िन्दगी में बहुत हारे हो अब तो जीत के दिखाइए…जीतने वाले को बाज़ीगर कहते है।कायनात को नमन जिसने ये अनमोल घड़ी जीने दी। हमको सिर्फ खुद को जानना है और जी जान से खेलना है।
दोनों टीमो को दिल से हार्दिक शुभकामनाएं…मैडल पहन के गर्दनझुक जाती ही है, ठीक वैसे ही अपने भीतर बैठे बचपन को नमन करिए…
नमः शिवाय
चक दे Sanju टीम

All the very best 👍
💕
जिसकी सोच में खुद्दारी की महक है,
जिसके इरादों में हौसले की मिठास है,
और जिसकी नियत में सच्चाई का स्वाद है,
उसकी पूरी जिन्दगी महकता हुआ गुलाब है
💕
A flying kiss to universe ❤
Love all divine souls on planet…Sending unconditional love light peace healing miracle’s and hugs
(((❤)))
From loveable souls

जिस जिस पे ये जग हँसा है,
उसी ने इतिहास रचा है….

Happy Anniversary to both of us…

💐🎂🎈💖
Happy Anniversary to gorgeous bhabhiji dashing bhai dear
🎈💖💐🎂
आज सुबह से ही बल्कि कल श्याम से ही ज़हम में शब्दों का मेला चलता रहा कि आप दोनों युगल जोड़ी की भी शादी की सालगिरह उसी दिन है जिस दिन हम दोनों की …
कितना अनोखा अंदाज़ है ~ ये जब अचानक मोबाइल की घंटी बजे और दोनों एक साथ 💕happy anniversary💕 कहें
सखी सहेलियां जैसे बचपन की अट खेलियाँ
हम दोनों एक दुझे को same to you कह ही सकते है।
कुछ लोग दिल के करीब होते हैं
उनसे मिलने वाले खुश नसीब होते हैं
ऐसा ही लगता है आपसे मिलकर
आज जब सोचु तो वो शादी के पल याद आते है
जिसे हर घर मे या हमारे परिवार में खुशियां बॉटी जाती है।
जहाँ भाव अपने गीत गाते है।
पति पत्नी अपनी शादी के लम्हें और दौर याद करते है
झूमते गाते है।
हर साल नही नही कर के भी कुछ बढ़िया बन ही जाता है
और अपनों की दुआ बटोरते बटोरते दिल सातवे आसमान पे आ ही जाता है।
वो अलबेला मन चंचल चितवन शौक अदा
थोड़ा झिजकना थोड़ा बेबाक पन
कौन इन लम्हों का दीवाना न हुआ
ऐसा कौन है जहाँ में जो मस्ताना न हुआ।
नया सफर नया अंदाज़ और नए जज़्बात
क्या दिल क्या पल क्या बात
हर ज़िन्दगी के मोड़ पे चहकता हो मन
जा जा जा मेरे बचपन
वो नादानियां वो हिचकिचाना,
वो नाम न पुकारने का ढूंढे बहाना
वो अपनो का कौन मैं समझा/या समझी नहीं बोल के छेड़ना
किसे बुला रही हो भाभी
और मंद मंद मुस्कान से कहना उन्हें
उन्हें किन्हें क्या दिन क्या परिवार क्या रंगीला स्वरूप
इन्हीं भावों में गोते खाते खाते पहुँच गए चांद तक…
बहुत खूब
जहाँ चांद में भी अपना पन नज़र आने लगा
ये मान है कि इतराने लगा
वो रोशनी की शीतलता
वो शांत सौम्य पल
अनजाने कब अपने हुए भूले नही पल
निश्छल निर्मल मन कल आज और कल
समर्पण की भावना में बीते ये जीवन
हर रात के चाँद पर है नूर आपसे
हर सुबह की ओस को गुरूर है आपसे
हम कहना तो नहीं चाहते
पर मर जायेंगे रहकर दूर आपसे
ये मन जो चुप हो के भी बहुत कुछ बोल जाता है
ये नैन जिनसे जन्मों का नाता है
ये शायरी करे बिना दिन नही बिताता है
और इश्क़ मोहब्बत ग्रंथो में नित रमता है
जहाँ कृष्ण के साथ राधा का पवित्र प्यार याद आता है
मुरली की तान पे मन दौड़ जाता है
रचना की रचनात्मक शैली ने
गौरव दशोत्तरो का बड़ा दिया
जहाँ मायरा ने आ के हम सब को तार दिया
संगीता (मासीजी गुस्ताखी माफ नाम लेना अनिवार्य है)के संगीत ने सुर और ताल जमा दिए
जहाँ हर पल आशीष बरसे ऐसे वृंदावन दिखा दिए
याद नही मुझे की कितने साल हो चुके
याद बस इतना कि कहाँ से कहाँ हम आ चुके
आज भी जीना शान से सिखलाते है हम
क्यों कि हम दीवाने मस्ताने है सनम
नशे में कौन नही है मुझे बताओ ज़रा
हर शख्स अपने आप मे मशरूफ भरा
शादी की सालगिरह की ढेरों बधाई
प्रेम और विश्वास की है ये कमाई
भगवान करे आप दोनों सदा खुश रहें
आदर, सम्मान, और प्रेम प्रतिष्ठा जीवन में बहे।
दिल से ये दुआ करते हैं कि आपका हर सपना पूरा हो और सारे ख्वाब संवरते रहें।
💕तुझे रखना अपनी ख्यालों में
ये मेरी आदत हैं…
कोई कहता इश्क…
कोई कहता इबादत हैं
💕
इस शादी की सालगिरह पर;
आपको दिल से बधाई देते हैं;
क्योंकि आप जैसे ख़ास लोग;
दुनिया में बहुत कम होते हैं।
शुभम
नमः शिवाय
(((❤)))

Cherish the yesterdays
Plan your tomorrow’s
And celebrate your today
May God bless the lovely couple on planet,and
May your marriage be Blessed with love,
joy and companionship
For all the years of your lives! May the freshness of love always remain …Live love laugh enjoy your day..#1love birds on planet
sending unconditional love light peace healing miracle and hugs….
Lead long luxurious rocking life…
Face Fabulous Fantastic Future 😘you both are very very special to all of us so your smile is a sunshine of our sweet home….🙏🍫 dil ko jab khushi chhu jae kuch meetha ho jae..🍫
cheers to Happiness 🥂
Regards,
Lovable soul di

Meditation vs Education 


My education transformed me superficially, made me civilized,
My meditation transformed me deeply, made me realized.

My education gave me gold medals,
My meditation gave me golden moments.

My education gave me job eligibility,
My meditation gave me life flexibility.

My education fostered appreciation,
My meditation fostered introspection.

My education made me a good tax-payer,
My meditation answered my prayers.

My education sharpened my intelligence,
My meditation deepened my awareness.

My education stimulated my passion,
My meditation motivated my compassion.

My education made my job fruitful,
My meditation made my life grateful.

My education provoked competitiveness,
My meditation invoked inclusiveness.

My education inflated my ego,
My meditation allowed to me let go.

My education coloured my mind,
My meditation purified my mind.

My education pushed me outward,
My meditation pulled me inward.

My education made me who I am,
My meditation showed me who am I.

Educate to Meditate!
Namah Shivay
(((❤)))

Happy birthday Ma…

💐🎉🎈🎁🍫🍰🎂🙏😘

“माँ” नाम ही काफी है,

💕
माँ ही गंगा
माँ ही यमुना
माँ ही तीर्थ धाम
माँ का सिर पे हाथ जो होवे क्या ईश्वर का काम
💕

आज फिर जन्मदिन आया एक बेटी अपनी माँ को भावनाओ और मुस्कान के सिवा दे ही क्या सकती है!!!

यादों की गठरी खोलू तो बचपन के अनमोल पल एक मिठाई के डब्बे की तरह खुलते चले जाते है जहाँ सिर्फ एक मिठाई के टुकड़े से जी नही भरता हज़ारों लम्हें मिठास लिए खिंचे चले आते है।

एक एक पल में यादों का बसेरा है कभी खुशी है तो कभी नमी अनमोल घड़ियों का डेरा है।

ये सारा आकाश जिसके प्रेम और स्नेह से भर जाए।इस धरती का हर रज, कण उसका मोल चुका न पाए।

आंधियारों की आंधी में जो दीपक की लौ जलाए। सूरज के तेज के साथ जो चांद की शीतलता सिखलाए।

जगमगाती हुई अपने हुनर और कौशल से जो दोनों घरों की लाज बचाए ।
बहुत खूबी से निभाए रिश्ते
पल भर भी जिसे कोई हरा न पाए।

हम सब को वरदान देती कुशल मंगल गीत गाये
दिव्य अद्भुत अलौकिक स्नेह और प्रेम से ममता लुटाती जाए।

वेदों पुराणों में जिसकी व्याख्या करुणा मई कहाए
किरणों से जग को प्रभावशाली करने का हौसला मन में जगाए।

जगत के लिए जीने का जज़्बा जो जुनून बन कर छाए।
एक एक सीख माते तुम्हारी पल पल राह दिखलाए।

हर दुखियों को मिले सहारा अपने ही बातों से,
हर गिरते को मिले सहारा अपने ही हाथों से,
ये संस्कार बचपन के किस्से कहानियों में आप ने हम को पढ़ाए।एकता का पाठ अनोखा कैसे कोई बिसराए

दिल के तारों की ध्वनि में जो तू ताल मिलाए।
सच कहती हूं कायनात भी तुझको भूल न पाए

मेरे रग रग से वाकिफ तुम
तुम्हारी मोहब्बत की क्या मिसाल दी जाए
खुद को मार के जब बच्चों के लिए जिया जाए।

हक़ीक़त गर न बतलाऊ तो मुझे जान जाती हो तुम
यू मिल न पाउ तो सपने में आके सलाह दे जाती हो तुम।

बिन बोले जो दिल को समझे वो अनमोल क्षण तुम्हारा है
हर धड़कन में राधा रस है।
धारा का उलट सहारा है।

गाते गुनगुनाते चली जाती हो
अपने दुखों को स्वरों में भुलाती जाती हो।

  1. खुशनुमा अंदाज़ अपना अलग ही पाया है
    बचपन की अटखेलियां और अल्लड़पन का रोमांटिक दौर फिर से लौट आया है।
    जब माँ बेटी ने मिल के जवानी के किस्से कहानियां अंताक्षरी में दोहराए है।
    बहारों को भी नाज़ जिस फूल पर था वही फूल हमको मिला गुलसिता से । ये बोलो ने कानों को तार है।

हर इंद्री शुद्ध हुइ जब जब हृदय ने “माँ” को पुकारा है।

🙏🌷मैं अपने छोटे मुख से कैसे करूँ तेरा गुणगान,
माँ तेरी क्षमता में फीका-सा लगता भगवान सारा है🌷🙏

जन्मदिन की लाखों शुभकामनाओ के साथ
नमः शिवाय
🌹🙏🌹
तुम्हारी अपनी लाडली बेटी
श्री शिवप्रिये

 

लफ़्ज़ों से कहाँ लिखी जाती हैं
ये माँ की मौहब्बत की कहानिया.!
मैंने तो हर बार दिल की गहराई से।
उन को ही पुकारा है..!!

Angels follow us and try to contect us in following ways…

Do you believe in Angels!!!

angel.jpg

“Yes” I do believe them…they follow us where ever we go on planet from the day we were born till our last breath.we all have our own guardian angel..before discussing how angels talk to us let’s clear that do you have gut feelings that they are tuned to your inner child,they can hear you and are far more intelligent then our human body else souls…just wanted to share my personal experience…since last few months I feel as if angels are leaving one or the other messages…the presence of angelic force’s, may be because my energy centers “Chakra” are active…Have you ever felt like you were in the presence of angels or that an angel may be trying to communicate with you? As I said i obey my inner child first then write…Angelic guidance  can be including channeled messages, dreams and direct insight. It can also come more subtly. Angels are constantly drawing our attention towards signs and they will leave you with clues that will guide you in the right direction. It’s very possible that you were and you didn’t even know it..Sometimes, these signs may seem small at first, but can increase in frequency when they are focused on, acknowledged and appreciated. If you want to start noticing the presence or guidance of angels and begin to connect with them, one of the best things you can do is increase your present moment awareness of them…Like in Reiki healing we call upon angelic force’s to guide us, protect us and heal us.. You can only do this by knowing some of the common signs to look out for. Are you ready to tap into the angel realm? Here are six amazing ways angels speak to you every day.

1) Through Your Body

maxresdefault

When you’re in the presence of angels, you may feel your body temperature suddenly changing. You may get the chills, feel particularly cold or feel a tingle or pressure in your head or the back of your neck. This change may also come in the form of a warm glowing light around you. This typically isn’t an uncomfortable feeling either. In that moment, it will feel normal. There is no need to be afraid when this happens. This experience is a validation that angels are with you. They also connect through sights, sounds and smells. Have you ever noticed a particular smell, shape or sound and have been unable to identify the source? This may show up in the form a lovely sweet scent or a ringing in your ear. Because we often question our 6th sense, they send us messages through various sights, sounds and smells. Seeing angel shapes in the clouds, sparks of lights and flickering lamps are also signs that angels are near. This often occurs as confirmation of your intuition. The scents of roses or flowers are often a sign that angels are around to help calm you in a particular time of need. If you notice a rainbow, this is also a sign that your angels are bringing encouragement and approved from heaven.

2) Through Voices

lf.jpg

Not everyone “hears” angelic voices as an audio sound. Many people receive divine messages through nonverbal means such as visions or feelings, but there are some who do. Have you ever received a message in your mind, or heard a voice whispered to you that seems to appear out of thin air, you may be receiving guidance from angels. Hearing the guidance of your angels is a wonderful sign of their presence, and often occurs when you are in need of comfort, reassurance or angelic guidance. If you hear a faint voice and wonder what it said, ask the angels to repeat their message. They want to deliver clear and understandable guidance.

3) Through Song

IMG_20181127_055518_301

Angels often communicate through music and song. Music is a universal language and they use song to convey messages in various ways. The energy of our own house is been cleaned and This is often communicated through reoccurring songs. You may hear the same song playing on the radio,TV, or your favorite music app and wonder why.??? This may be an angel trying to communicate with you, particularly if the songs have a similar theme. Lyrics might touch your intuitive feelings or a song might lift your spirits and reassure you that all will be well. It’s important that you pay attention to this guidance through music.

4)Through Light

IMG_20180804_004303_591

Has a bright star in the sky ever caught your attention, to shine with a soft light seems to be moving off an object in an unusual way? These are all signs that angels are around you. An aura is a field of radiant light that emanates from an angel who is lit from within. People notice angel auras when angels appear on Earth. These auras manifest in different colors, depending on the frequency at which a particularly angel’s energy vibrates. Because angels are beings of light, another way they make their presence known is through sphere,globe,ball, or celestial body,unexplained to shine with a soft light that seems to be movingof light, or flashes of color. If you close your eyes and you still see the light, it’s highly probably that an angel is with you. Stop and breathe for a moment and allow their angelic presence to bring you healing and uplift you.

5) Through People

angels2

Another way angels bring us guidance is through people messengers. Angels are sent to us by God to deliver messages of encouragement and inspiration. They will use people in your life, or sometimes complete strangers to tell you exactly what you need to hear in that very moment. They often show us when you’re thinking about an issue or decision and need someone to guide you through it. Sometimes, a random person you meet will mention something that you desperately needed to hear or know, that you wouldn’t have otherwise heard had you not come across their path. If you are feeling divinely guided by someone, angels may be reaching out to you.

6) Through Numbers

IMG_20181127_061821_744

Another way angels will attempt to get your attention and guide you is through numbers. Some people call them Angel Numbers. You may be sitting behind a car with a certain number combination on the license plate, or you seem to look at the clock every day at the same time. These numbers have specific meanings for you. If you are wondering what the point of seeing these numbers over and over again, think of the signs they leave us as an endless possibility for growth and transformation. What is important is for us to not only look for signs from the angels, but also be present and aware.

IMG_20181127_060832_769

There are many angels around you that are here to help and guide you. It’s important that you know the signs of their presence if you want to be able to hear them speaking to you. Once you begin to tune into the signs from angels, and practice present moment awareness, you will become more conscious of your angels, and the guidance and assistance they have for you. If you notice any of these signs, be aware of the message they may be trying to send you. Once you are tuned you are registered in the golden book of Angels name…Angel dairy and the registration is divine indeed…

Images: from google

आप कहते है जिओ अभी और यही … ==================

पर स्वयं को देख कर छभी और यही जीने जैसा नही लगता। वर्तमान मे जीने की बजाए भवीष्य की कल्पना में जीना ज्यादा सुखदाई है, तो क्या करे तो जिओ वैसे ही जिओ। अनुभव बताएगा कि जो सुखद लगता था वो सुखद था। प्रश्न से इतना ही पता चलता है कि प्रॉड नही। कच्चे हो अभी, मिट्टी के कच्चे घड़े हो वर्षा आएगी ढह जाओगे। अभी जीवन की आग ने पकाया नही। क्योकि जीवन की आग जिसको भी पका देती है उसको ये साफ हो जाता है की भविष्य में सुख देखने का अर्थ ही यही है कि वर्तमान में दुख है। इसलिए भविष्य के सपने सुखद मालूम होते है। थोड़ा सोचो जो आदमी भूखा रहा है वो दिन भर सपने देखता है भोजन के, लेकिन जो आदमी भर पेट भोजन किया वो भी कही सपने देखता है भोजन के! देखे तो पागल। जो तुम्हे मिला है उसके तुम सपने नही देखते,जो तुम्हे नही मिला है, तुम उसी के सपने देखते हो। वर्तमान आप का दुख से भरा है। इसको भुलाने को , अपने मन को समझाने को, रिझाने, राहत के लिए,सांत्वना के लिए तुम अपनी आंखें भविष्य में टटोलते हो। कोई सपना कल सब ठीक हो जाएगा। भरोसे में आज के दुख को झेल लेते हो।मंज़िल के आसन रास्ते का कष्ट,कष्ट नही मालूम पड़ता। पहुचने के करीब है,हाला की वो कभी आता नही। आज जिसको तुम आज कह रहे हो ये भी तो कल कल था।इस आज के लिए भी तुमने सपने देखे थे वो पूरे नही हुए। ऐसा ही पिछले कल भी हुआ था।उसके कल भी वही हुआ था और ये भी आगे भी होगा तो दु:खपूर्ण आज से सुख पूर्ण कल कैसे निलकेगा।? थोड़ा सोचो- आज कही आकाश से थोड़ी आया है। तुम्हारे भीतर से आया है।तुम्हारा आज अलग है मेरा आज अलग है। केलिन्डर के धोखे में मत पड़ना।calender पर तो तुम्हारा भी वही नाम रखता है और मेरा भी, लेकिन यहाँ जितने भी लोग बैठे हो उतने ही आज है।पुरे पृथ्वी पे जीतने लोग हैै ,और अगर तुम पेड़ पौधों पनछियो की बात करते हो तो वो भी उतने ही है जितने आज हैै। calendar बिलकुल झूूूठ है उससे ऐसा लगता है एक ही वार है सबका । वार तो सभी का रवीवार है। सूरज उगा हो तो रविवार और किसी के जीवन मे अंधेरा हो तो कैसा रविवार।समय आकाश से नही उतरता है।वो तुम्हारे भीतर से निकलता है। तुम ही आज को जी कर कल को पैदा करोगे। तुम्हारे ही गर्व में निर्मित होता है कल। कल निर्मित हो रहा है आज इसलिए मैं आज कहता हूं आज और अभी जी लो। इतने आनंद से जीव ऐसे भरपूर जिओ की जो तुम्हारे अंदर निर्मित हो रहा है वो भी रूपांतरित हो जाए। वो तुम्हारे आंनद को पकड़ ले। अगर आज तुम दुख में जी रहे हो कल की आशा कर रहे हो सुख की , आशा से पैदा नही होगा कल कल तो तुमसे पैदा होगा। तुम जैसे जी रहे हो उससे पैदा होगा। तुम्हारे अस्तित्व से पैदा होगा सपनो से नही। समझो एक माँ बीमार है और उसके गर्व में एक बेटा है, और रुग्ण है और शरीर जरा जीव है। बेटा तो इस रुग्ण शरीर से पैदा होगा। माँ चाहे सपने कितने देखती हो कि बेटा स्वस्थ होगा महावीर जैसा स्वस्थ होगा। इससे कुछ हल नही होने वाला है। इस सपने से बेटा नही पैदा होने वाला बेटा तो सच्चाई से पैदा होगा। तुम्हारा कल तुम्हारे सपने से नही पैदा होगा तुम्हारे आज से पैदा होगा हक़ीक़त से पैदा होगा। तुम आज क्या हो? अगर तुम नाच रहे हो तो तुम ने आने वाले कल के लिए नाच दे दिया। अगर तुम प्रफुल्लित हो तो कल का फूल खिलने ही लगा। क्यो की जिस फूल को कल खिलना ही है उसकी कली आज तैयार हो रही है। प्रति पल तुम अगला पल पैदा कर रहे हो। प्रति क्षण अगला क्षण तुम्हारे भीतर निर्मित हो रहा है। तैयार हो रहा है। तुम स्रष्टा हो। तुम अपने समय को खुद पैदा करते हो। इसलिए मैं तो कहता हूं आज जिओ लेकिन तुम्हें लगता है वर्तमान जीने जैसा नही लगता। अगर वर्तमान जीने जैसा नही लगता तो कल भी तो वर्तमान हो कर ही आएगा फिर वो भी जीने जैसा नही लगेगा। परसु भी वर्तमान हो कर ही आएगा वो भी जीने जैसा नही लगेगा। इसी को तो मैं आत्मघात कहता हूं।तो तुम आत्महत्या कर रहे हो जी नही रहे हो जीने का कोई और उपाय नही है। आज ही है और आज ही जीना है। जीने जैसा लगे या न लगे इससे कोई फर्क नही पड़ता ।जीने का और कोई ढंग है ही नही। जीना तो यही होगा कल के भुलावे में मत पडो। कल के भुलावे ने बहुतों को डुबाया है । आज जिओ ये क्षण खाली न चला जाए। ये क्षण अवसर है इसे तुम ऐसे ही मत गांव देना। कुछ बना लो इसका। कुछ रस ले लो इसमें। कुछ भोग लो इसे कुछ पहचान लो इसे। इसका स्वाद उतर जाने दो तुम्हारे प्राण में। क्योंकि की ये ऐसा ही न चला जाए। समय ऐसा ही जाता है तो समय को प्रति दिन आदत मजबूत होती चली जाती है। फिर धीरे धीरे समय को गवाना तुम्हारी प्रकृति हो जाती है। चुसो इस क्षण को निचोड़ लो इसे पूरा इसका रस कही छूट न जाए। यही परमात्मा के प्रति धन्यवाद है क्यों कि उसी ने तुम्हे ये अवसर दिया जीवन दिया और तुमने ऐसे ही गवा दिया। यहूदियों की किताब है तालमत – तालमत ये न कहती है कि भगवान तुमसे ये न पूछेगा की तुमने कौन कौन सी गलतियां की। गलतियों का वो हिसाब रखता ही नही बडा दिल है। परमात्मा तुमसे पूछेगा तुम्हें इतने सुख के अवसर दिए तुमने भोगे क्यों नही। गलतियों की कौन फिकर रखता है।भूल चुक का कौन हिसाब रखता है। तालमत कहती है एक ही पाप है जीवन मे की जीवन के अवसरों को बिना भोगे जाने दो। जब तुम आनंदित हो सकते थे आनंदित न होए। जब तुम गीत गा सकते थे गीत न गाया। सदा कल पर टालते रहे स्थगित करते रहे।स्थगित करने वाला आदमी जीएगा कब। कैसे जीएगा।स्थगित करना ही तुम्हारे जीवन की शैली हो जाती है। बच्चे थे तब जवानी पे छोड़ा , जवान हो तब बुढ़ापे पे छोड़ोगे और बुढ़ापे में लोग अगले जन्म पे छोड़ रहे है।वो कह रहे है परलोक में देखेंगे। यही लोक है एक मात्र और ये ही क्षण है। सत्य का ये ही क्षण है बाकी सब झूठ है। मन का जाल है । लेकिन तुम्हें अच्छा लगता है- तुम्हारी मर्जी। तुम्हे अच्छा लगता हो तो मैं कौन होता हु बाधा देने वाला तुम सपने देखो। कभी न कभी तुम जागोगे तो पछताओगे रोओगे। तब तुम पछताओगे की इतना समय यू ही गवाया। और ध्यान रखना जीवन मे जितना दुख भर लोगे जितने आंसू घने कर लोगे । उतना ही कठीन हो जाता है रोकना फिर दुख को आसुओ को। कभी तुमने खयाल किया- हँसी तो एकदम रुक जाती है रोना एकदम नही रुकता। तुम हँस रहे हो एक दम रोक सकते हो,रोना नही रुकता थमते थमते थमेंगे आंसू। रोना है कुछ हँसी नही। दुख ऐसा सरोबोर कर लेता है। दुख ऐसी गहराइयों तक प्रविष्ट हो जाता है। तुम्हारे जड़ो तक चला जाता है की फिर तुम उसे रोकना भी चाहो तो कैसे रोको। ये कोई मजाक नही है कि रो लिए और रोक लिए। ये कोई हँसी नही है कि हँस लिए और रोक लिए। हँसी तो उपर उपर होती हैं रुक जाती है। रोना बहुत गहरे चला जाता है।रोना तुम्हारे जीवन मे सब तरफ भर जाता है। रोज रोज आप रोनेपे जिये जाओ और हसी को कल पे टालते गए की हसेंगे कल रोएंगे आज तो जो तुम दलील दे रहे हो तो तुम्हारा वर्तमान सुखद मलूम नही पड़ता।

इसलिये सुखद सपने देखेंगे।सुखद वर्तमान क्यों नही है पूछो। इसलिए नही है कि कल भी तुमने सपने देखे थे आज के और कल का दिन गवा दिया जिसमें आज सुखद हो सकता था। जिसमे आज की आधार शीला रखी जा सकती थी। कल तुमने गवा दिया कि आज सुखद हो और आज भी तुम ये दलील दे रहे हो कि कल सुखी होंगे। तुम्हारी मर्जी। गणित साफ है फिर मुझसे मत कहना कि हमें किसी ने चेताया नही। ये ध्यान रखना तुम्हे ये मौका नही मिलेगा कहने का की हमे किसी ने चेताया नही। दुसरो को तो ये भी सुविधा है कहने की की हमे किसी ने चेताया नही। लेकिन मैं तुम्हें रोज चेता रहा हु।

osho6_1483186129